अल्मोड़ा की फेमस बाल मिठाई। इतिहास। कैसे मगाएं | Baal Mithai

Spread the love

Baal Mithai | Almora Bal Mithai | बाल मिठाई मतलब एक उत्तराखंडी मिठास. खाई तो होगी कभी ना कभी अगर नहीं भी कही है तो नाम तो सुना ही होगा.  एक अलग तरह का स्वाद होता है बॉल मिठाई (Baal Mithai ) का.  उत्तराखंड की सौगात भी कहा जाता है बाल मिठाई को.

उत्तराखंड का एक पहाड़ी जिला है अल्मोड़ा. बहुत ही प्यारा और खूबसूरत शहर, और इसी शहर की बाल-मिठाई (Almora ki bal mithai )का हम इस आर्टिकल में  जिक्र करने वाले है, जो कि  पूरी दुनिया में मशहूर है.

जो  भी कोई इंसान अल्मोड़ा यात्रा में आता है, अल्मोड़ा की बाल मिठाई को भर -भर के ले  जाना बिलकुल नहीं भूलते. अगर आपके घर से या दोस्तों में से भी कोई अल्मोड़ा यात्रा में आता है तो आप उसे भी कहना नहीं भूलते होंगे कि “भाई बाल मिठाई जरूर ले आइयो “

दोस्तों अल्मोड़ा कि इस मिठाई का अपने -आप में बहुत ही बड़ा नाम है.  आइये जानते है इसका इतिहास साथ ही समझेंगे कि ये बनती कैसे है और  कहाँ-कहाँ कि बाल मिठाई ( Bal Mithai ) है सबसे ज्यादा टेस्टी और पॉपुलर.  बाल मिठाई के आलावा और कौन सी मिठाई उत्तराखंड में सबसे ज्यादा पसंद कि जाती है. साथ ही जानेंगे कैसे आप ये बाल मिठाई (Almora Bal Mithai) अपने घर मंगा सकते है.

बाल मिठाई का इतिहास | History of Baal Mithai of Almora

History of Almora Bal Mithai | बाल मिठाई उत्तराखड के कल्चर में शामिल एक सांस्कृतिक मिठास की तरह है.कुमाऊनी लोकगीतों से लेकर किस्से कहानियों में तक बाल मिठाई का उद्बोधन है. अनेक देशी -विदेशी लेखकों एवं प्रबुद्ध जानो के लेखन में कई जगह अल्मोड़ा की बाल मिठाई का जिक्र मिल जायेगा.

कुछ विद्वानों का मत है कि बाल मिठाई (Baal Mithai) ka आरंभिक स्वरुप एक प्रसाद के रूप के रहा होगा , जिसे सूर्य भगवान की आराधना हेतु प्रयोग किया जाता होगा.  परन्तु ऐतिहासिक तौर पर देखा जाये तो ये माना जाता है कि बाल मिठाई  का पदार्पण लगभग 7 वीं से 8 वीं शताब्दी के बीच नेपाल से अल्मोड़ा अल्मोड़ा में हुवा था. मगर तब ये आज के वर्तमान स्वरूप में नहीं थी.

धीरे -धीरे बाल मिठाई (Bal Mithai) का स्वरुप, बनाने  की विधि एवं स्वाद में परिवर्तन होता गया.  जो बाल मिठाई आज आप खाते है उसका श्रेय अल्मोड़ा स्थित हलवाई जोगा लाल शाह को जाता है.

19 वीं – 20 वीं शताब्दी के मध्य अल्मोड़ा के लाला बाजार में एक हलवाई जोगा-लाल शाह की दुकान की बाल मिठाई (History of Baal Mithai) बहुत ही पॉपुलर  थी.  यहाँ तक की उस समय के इंग्लिश रूलर भी बाल मिठाई को इंग्लैंड में अपने आकाओं को भेट स्वरुप भेजा करते थे.  महान कहानीकार शिवानी ने भी अपने संस्मरण में अल्मोड़ा की बाल -मिठाई का जिक्र किया है.  वर्तमान में अल्मोड़ा ही नहीं बल्कि पूरे उत्तराखंड में लगभग हर जगह  बाल मिठाई बनाई जाती है.  परन्तु उत्तराखंड के अल्मोड़ा शहर के खीम सिंह-मोहन (Kheem singh- mohan singh Bal Mithai) सिंह के दुकान वाली बाल मिठाई को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है, और देश विदेशों में इसकी खूब मांग है.

कैसे बनती है अल्मोड़ा की बाल मिठाई | How to Make Almora Bal Mithai

How to Make Almora Baal Mithai | बाल मिठाई शुद्ध खोया, चीनी, देशी घी एवं खसखस से मिलकर बनती है.  अल्मोड़ा बाल मिठाई बनाने के लिए अल्मोड़ा के कारीगरों को ही स्पेस्लिस्ट कारीगर माना जाता है.  बाल मिठाई को पहले चॉकलेट की तरह बनाया जाता है फिर इसे देशी घी लगे बर्तन में उड़ेल दिया जाता है.

चॉकलेट की तरह छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर खसखस एवं चीनी की चासनी से से बनी सुगर बॉल्स की कोटिंग की जाती है और इस तरह बेचने के लिए लिए तैयार होती है अल्मोड़ा की फेमस बाल मिठाई.

अल्मोड़ा  एवं चम्पावत शहर बाल मिठाई (Famous Baal Mithai ) के लिए सबसे ज्यादा मशहूर है. दूर -दूर से जब भी कोई व्यक्ति अल्मोड़ा या चम्पावत घूमने आते है तो यहाँ की बाल मिठाई साथ ले जाना नहीं भूले है.

यही नहीं अल्मोड़ा की सिंगोड़ी, चॉकलेट एवं बर्फी भी बहुत ज्यादा पसंद किये जाने वाले स्वीट्स है.

कैसे मगाएं अल्मोड़ा की बाल मिठाई | How to Order Almora Bal Mithai

आप बाल मिठाई ऑनलाइन (Baal Mithai Online) भी मंगा  सकते है.  इसके लिए आपको baalmitahi com  पे जाना होगा, आप अपनी जरुरत के हिसाब से बाल मिठाई आर्डर कर सकते है. इंडिया के अंदर बाल मिठाई  की डिलीवरी आपको 4 से 6 दिन के अंदर हो  जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *