Patal Bhuvaneshwar Cave | पाताल भुवनेश्वर गुफा | इतिहास | कैसे पहुंचे

Patal Bhuvaneshwar | पाताल भुवनेश्वर उत्तराखंड  के पिथौरागढ़ जिले में गंगोलीहाट नगर से  14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक पौराणिक गुफा मंदिर है.  ऊंची पहाड़ियों और देवदार के घने जंगलो के बीच बसा यह मंदिर अपनी खूबसूरती एवं आध्यात्मिक शांति के लिए विश्वविख्यात है. इस प्राकृतिक विशाल गुफा की खोज सूर्य वंश के राजा ऋतुपर्ण ने की थी. प्रवेश द्वार से  160 मीटर लम्बी और 90 फ़ीट गहरी यह गुफा किसी आश्चर्य से कम नहीं है|

गुफा मे जाने के लिए प्रवेश द्वार से लोहे की जंजीरो का सहारा लेना पड़ता है. यह गुफा प्राकृतिक नुकीले पत्थरों से बनी है. पाताल भुवनेश्वर गुफा मानव निर्मित नहीं है, अपितु यह एक प्राकर्तिक निर्माण है.

गुफा मे जो पत्थर है, वह बहुत ही चिकने है और गुफा की दीवारों से हमेशा हल्का पानी आता रहता है. इसलिए गुफा का रास्ता चिकना रहता है. मगर गुफा के अंदर प्रवेश करने में इससे कोई परेशानी नहीं होती. गुफा के अंदर जाते ही हमें शेष नाग के आकर के  पत्थर दिखाई देता है. और अंत मे 5 पांडवो के दर्शन होते है. माना जाता है पाताल भुवनेश्वर गुफा मे चारों धामों के दर्शन होते है.

पाताल भुवनेश्वर का इतिहास (Patal Bhuvaneshwar History in Hindi)

 पाताल भुवनेश्वर गुफा एक ऐसी गुफा है जहा 5 पांडवो के दर्शन के साथ साथ चारो धामों के दर्शन भी एक साथ होते है. साथ ही यहाँ 33 कोटि देवी-देवताओं के दर्शन करने का भी सौभाग्य मिलता है.  कुछ मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव ने गणेश जी का सर धड़ से अलग कर के इसी गुफा मे रखा था. (Patal Bhuvaneshwar Cave)

patal bhuvaneshwar temple

यहाँ पर पांचो पांडवो ने तपस्या की थी.  और माना जाता है कि भगवान भोले नाथ भी यहाँ साक्षात रूप मे निवास करते है.  इसलिए हर साल  देश विदेश से इस गुफा  के दर्शन  करने वोलो की काफी भीड़ उमड़ी रहती है|

कैसे  पहुंचे गंगोलीहाट पाताल भुवनेश्वर (How to Reach Patal Bhuvaneshwar)

पाताल भुवनेश्वर पहुंचने के लिए पहले आपको गंगोलीहाट पहुंचना होगा. अगर आप बस से या अपनी गाड़ी से सफर कर रहे है तो सबसे पहले हल्द्वानी या टनकपुर आना होगा वहाँ से सीधा गंगोलीहाट जाया जा सकता है. यदि आप रेल से यात्रा कर रहे है तो आपको कठगोगाम या टनकपुर आना होगा |

 अगर आप हवाई मार्ग से यात्रा करके पाताल भुनेश्वर पहुंचने का मन बना रहे है तो आप पंतगार एअरपोर्ट तक का सफर हवाई मार्ग से कर सकते हें . पंतनगर से आगे की यात्रा अपनी गाड़ी,बस या फिर लोकल टैक्सी किराये पर लेके संपन्न कर सकते हें |

पाताल भुवनेश्वर के आस पास अन्य दर्शनीय स्थल (Tourist Places Nearby)

पाताल भुवनेश्वर गुफा उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल के दिल कहे जाने वाले स्थान गंगोलीहाट में स्थित हैं . चूकि  कुमाऊं छेत्र अपने आप में अनेक दर्शनीय स्थलों का अड्डा है.

जागेश्वर धाम अल्मोड़ा शहर से लगभग 35 किलोमीटर पूर्व की तरफ स्थित एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल एवं बहुत ही खूबसूरत स्थान है. आप चाहे तो पाताल भुवनश्वर गुफा मंदिर के दर्शन के उपरांत जागेश्वर धाम की यात्रा कर सकते है. वापसी के समय अगर आप अल्मोड़ा होते हुए काठगोदाम पहुंचना चाहते है तो आपके मार्ग में पड़ता है.

साथ ही इसी रास्ते मे थोड़ा आगे बढ़कर आप चितई गोलू देवता मंदिर के दर्शन भी कर सकते है. जो कि अल्मोड़ा पिथौरागढ़ मार्ग में अल्मोड़ा शहर से 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. इस रास्ते वापसी करते हुए आप अल्मोड़ा शहर भी घूम सकते है. अगर आप चाहे तो अपनी इस यात्रा के साथ नैनीताल कि यात्रा भी कर सकते है.

अगर आप चम्पवात होते हुए टनकपुर से बरेली या हल्द्वानी के तरफ वापसी का मन बना रहे है तो, आप लोहाघाट स्थित मायावती आश्रम एवं टनकपुर के नजदीक स्थित पूर्णागिरि माता मंदिर के दर्शन करते हुए अपनी यात्रा संपन्न कर सकते है |

By HindiWall

हिन्दीवाल के अन्य ज्ञानवर्धक लेख

नीम करोली बाबा मंदिर कैंची धाम (KAINCHI DHAM ASHRAM)
स्वामी विवेकानंद का जीवन परिचय (SWAMI VIVEKANANDA IN HINDI)
मुनस्यारी (दर्शनीय स्थल) (MUNSIYARI)

 

चाणक्य नीति के टॉप 12 कथन | BEST CHANAKYA NEETI QUOTES IN HINDI

Best chanakya neeti quotes in hindi | हिंदुस्तान ने अपनी धरती पर अनेक महात्मां, संत, विचारक और ज्ञानी मनुष्यों को जन्म दिया है जिनमे एक हें महान कूटनीतिज्ञ आचार्य चाणक्य. उनके द्वारा रचित “चाणक्य नीति” नामक ग्रन्थ मानव को जीवन राह दिखाता है. चाणक्य नीति में कही गयी बातें एक सामान्य मानव के जीवन में आने वाली कठिनायों और उनके हल को बिल्कुल सजीव ढंग से बयान करती है. हिन्दीवाल आप आपको आचार्य चाणक्य रचित “चाणक्य नीति” ग्रन्थ में से 12 सबसे बेहतरीन कथन बताने जा रहा है. इस लेख में हम आपको चाणक्य नीति (chanakya neeti hindi) की चुनिन्दा बातों को आज के समाज के हिसाब से समझाने की कोसिश करेंगे. (Chanakya niti in hindi)

CHANAKYA NEETI QUOTES IN HINDI

चाणक्य नीति के टॉप 12 कथन (BEST CHANAKYA NEETI QUOTES IN HINDI)

ऐसे मित्रों और लोगों से बचो, जो सामने तो मीठी- मीठी बातें करते हो मगर पीठ-पीछे आपको बर्बाद करने की योजना बना रहे हों. ऐसे लोग उस घड़े की तरह है जिस के ऊपर तो दूध की परत होती है मगर अन्दर बिष से भरा होता है. चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

डर को नजदीक ना आने दो, अगर नजदीक आये तो उस पर विजय प्राप्त करने के विश्वास के साथ आकर्मण कर दो. डर से भागो मत डटकर मुकाबला करो. चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

Chanakya Niti in Hindi

एसा इंसान जो ताक़त ना होते हुवे भी दिल से हार नहीं मानता, दुनिया की कोई ताक़त उसे हरा नहीं सकती. चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

अपनी संतान को आरम्भ के 5 वर्ष तक बहुत प्यार करो. उसके बाद से 15 वर्ष की आयु होने तक उसे कठोर अनुशाशन में रखो . 16 वर्ष की आयु में बाद उसके साथ दोस्त की तरह रहो और व्यहार करो.   चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

Chanayak Neeti In Hindi

बीती हुवी बाते अगर गलत भी है, आपने अपने भूतकाल में कुछ गलत भी किया है तो उसके बारे में सोचकर अपना वर्तमान ख़राब ना करे. उससे सीख लेते हुवे, अपने वर्तमान को सही तरीके से जीने की कोशिस करे. चाणक्य नीति (Chankya Neeti)

जो इंसान गलत कर्म करने वाले, दुराचारी, और कुद्रष्टि रखने वाले व्यक्ति से मित्रता या नजदीकी रखता है, उसका नाश होना तय है. चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

जो लोग आपनी दौलत, घर-बार और भगवान् का दिया हुवा अपने हिस्से का सुख भोग कर संतुष्ट नहीं हुवे वो मरने तक संतुष्ट नहीं हो सकते. ऐसे कई लोग पहले भी मर चुके है और आगे भी मरेंगे. चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

जिसका ज्ञान किताबों तक सिमट गया और जिसने अपने दौलत किसी और के सुपुर्द कर दी, वह जरुरत पड़ने पर मदद नहीं कर सकते. चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

Chanakya niti hindi me

कोई सर्प विष वाला ना हो तो भी उसे बिषधर दिखना जरुरी है, अगर वो डंक ना दे पाए तो भी कोई बात नहीं, मगर उसे अपने विषैले डंक का झूठा ही प्रदर्शन करते रहना चाहिए ताकि लोग उसकी कमजोरी का फायदा उठाने के बारे में ना सोचें. चाणक्य नीति (Chanakya Neeti)

निर्धनता के समय अपने मित्रों से और सम्पन्नता की समय अभिमान से दूर रहना चाहिए. चाणक्य नीति (Chanakya Niti)

हमारा शरीर नाशवान है, हमारा धन चलायमान है. मुर्त्यु एकदम निकट है, अतः तुरंत कुछ अच्छा काम करो. चाणक्य नीति (Chanakya Niti)

दूसरों की गलतियों से ना सीखने वाले इंसान की उम्र ,कुछ कर गुजरने के लिए कम पड़ जाती है. चाणक्य नीति (Chankya Neeti)

Best chanakya neeti quotes in hindi By HindiWall

********

हिन्दीवाल के अन्य बेहतरीन लेख यहाँ पढ़े

Motivational Good Thoughts in Hindi

Swami Vivekananda Thoughts in Hindi

Bhagat Singh In Hindi

Ma Vaishno Devi Mandir

 

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना | लाभ | पात्रता | AYUSHMAN BHARAT HEALTH SCHEME

Ayushman Bharat Yojana Health Scheme In Hindi | महत्वाकाक्षी आयुष्मान भारत योजना एक सरकारी नियंत्रण वाली स्वास्थ्य बीमा योजना है. इस योजना के तहत देश भर के लगभग 10 करोड़ गरीब और वंचित परिवारों के लोगों की बिमारियों के ईलाज की व्यवस्था की गई है.

गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले लोगों, दिव्यांग, गरीब मजदूरों और आर्थिक तौर पर कमजोर ग्रामीणों को इस योजना के तहत लिया गया है. इस योजना (Ayushman Bharat Yojana) के तहत रजिस्ट्रेसन कर लेने के बाद आप को हर साल एक निच्शित राशी प्रीमियम के तौर पर भुगतान करनी होगी. जिसके बाद आप देश भर के अनेक सरकारी और निजी अस्पतालों (वेलनेस सेंटरों ) में अपना और अपने परिवार के सदस्यों का 5 लाख तक का अपना ईलाज मुफ्त करवा सकते है. (Ayushman Bharat Yojana Health Scheme In Hindi)

यही नहीं देश भर में स्वास्थ्य व्यवस्था की हालत सुधारने के लिए भी इस योजना (Ayushman Bharat Scheme) में अनेकों प्रावधान किये गये है. जिसके तहत नए मेडिकल कॉलेज खोलना, पुराने अस्पतालों में नयी तकनीकी की व्यवस्था करना आदि है. 2018 के बजट में इस योजना को अमली जामा पहनाने के लिए बाकायदा बजट का इंतजाम भी किया जा चुका है. 15 अगस्त 2018 से आयुष्मान भारत योजना के शुरू हो जाने की घोषणा की उम्मीद की जा रही है.

Ayushman bharat health insurance scheme in hindi

AYUSHMAN BHARAT HEALTH SCHEME
Image source mygov

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना खास तथ्य

योजना का नाम          :   आयुष्मान भारत योजना

घोषणा की दिनांक       :   01 फ़रवरी 2018

लागू होने की दिनांक    :  15 अगस्त 2018

आयुष्मान भारत योजना का लाभ लेने हेतु पात्रता AYUSHMAN BHARAT YOJANA ELIGIBILITY)

आयुष्मान भारत स्कीम भारत के पिछड़े, गरीब और दिव्यांग लोगों को ध्यान में रखकर बनाई गई है. इस महत्वाकांछी योजना की पात्रता के लिए  2011 की जनगणना यानि कि SECC-2011 को आधार माना गया है. इस जनगणना के आधार पर चुने गये बी. पी. एल. धारकों सहित ऐसे लोग जिनके पास ग्रामीण छेत्र में अपना घर नहीं है, रोजमर्रा के मजदूर परिवारों के सदस्यों और विकलांगों को इस योजना हेतु पात्र माना गया है.

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के लिए जरुरी कागजाद (DOCUMENTS FOR AYUSHMAN BHARAT YOJNA)

यद्धपि आधाकारिक तौर पर अभी तक इस आशय कोई सरकारी आदेश नहीं निकला है. फिर भी आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा योजना में आवेदन हेतु कुछ जरुरी दस्तावेज चाहिए होंगे. जैसे कि आधार कार्ड, इनकम प्रमाण, फोटो, बैंक अकाउंट आदि की जरुरत होगी.

        "आयुष्मान भारत" | AYUSHMAN BHARAT HEALTH SCHEME - POSTED BY HINDIWALL

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना हेतु आवेदन कैसे करें. (HOW TO APPLY FOR AYUSHMAN BHARAT SCHEME)

आयुष्मान भारत योजना में रजिस्ट्रेसन हेतु अभी तक सरकार द्वारा कोई औपचारिक प्रबंध नहीं किया गया है. मगर माना जा रहा है की सरकारी पोर्टल के जरिये ऑनलाइन आवेदन मांगे जायेंगे. जैसे ही इस सम्बन्ध में कोई खबर आएगी तो हिन्दीवाल की टीम इस लेख को अपडेट कर आपको जानकारी देगी.

आयुष्मान भारत योजना का प्रीमियम (AYUSHMAN BHARAT HEALTH INSURANCE SCHEME PREMIUM)

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना के खर्चे का प्रावधान सरकार ने बजट में कर दिया है. इस योजना के खर्च में अधिकतर हिस्सा सरकार की तरफ से दिया जायेगा. सालाना प्रीमियम लगभग 1000 से 1500 के मध्य होगा. जिससे, आपको और आपके पूरे परिवार को सालाना 5 लाख का स्यस्थ्य बीमा कवर दिया जायेगा. (Ayushman Bharat Yojana Health Scheme In Hindi)

Ayushman Bharat Health Scheme

Ayushman Bharat Yojana Helpline :1800-180-1104

आयुष्मान भारत योजना के अन्य लाभ. (BENEFIT OF AYUSHMAN BHARAT HEALTH SCHEME)

  • ऐसे गरीब परिवार, जिनके पास कोई स्वाथ्य बीमा नहीं है और अपनी बीमारी का ईलाज करवाने में समर्थ नहीं है उन्हें इस बीमा योजना का लाभ दिया गया है.
  • आयुष्मान बीमा योजना में परिवार के सदस्यों की संख्या 5 मानी गयी है, हालाँकि बाकि सदस्यों को भी इस योजना के तहत कवर देने की बात की जा रही है
  • गरीब और कमज़ोर परिवारों के गंभीर बीमार सदस्यों को आर्थिक सहायता के रूप में मासिक धनराशी प्रदान करने की व्यवस्था भी आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत की गई है.

“Ayushman Bharat Yojana Health Scheme In Hindi”  By – HindiWall

हिन्दीवाल के अन्य लेख

Good Thoughts In Hindi

Swami Vivekananda Thoughts In Hindi

Neem Karoli Maharaj In Hindi

Bhagat Singh In Hindi

 

स्वामी विवेकानंद के महत्वपूर्ण विचार (Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

स्वामी विवेकानंद एक महान संत ही नहीं थे बल्कि नवयुग के लिए एक दीप्तमान ज्ञानस्तम्भ भी है. स्वामी विवेकानंद के द्वारा कही गई बातें मानवता के लिए प्रेरणा है. हिन्दुस्तान में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में स्वामी विवेकानंद द्वारा बताई गई बातो को  लोग अपने जीवन में उतारने  का प्रयास करते है. पूरी दुनिया में ख्याति- प्राप्त महान संत स्वामी विवेकानंद जी  के ज्ञान कोष  की कुछ महत्वपूर्ण सूक्तियों का आज हम इस लेख में उल्लेख करेंगे.

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

  • ब्रह्माण्ड कि सारी शक्तियां पहले से हमारी हैं। वो हमीं हैं जो अपनी आँखों पर हाँथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धकार है. 

अर्थात- इस दुनिया की बनावट ही इस तरह है कि एक सामान्य मानव की लगभग सारी जरूरते पूरी हो सकती है. मगर इन जरूरतों को पूरा करने के लिए पुरुषार्थ मतलब मेहनत या कर्म करने की जरुरत होती है. हम अपने आलस्य की वजह से कर्म नहीं करते या उस लेवल की मेहनत नहीं करते, जितनी कि मंजिल प्राप्ति के लिए जरुरी होती है. अगर करते भी तो सही तरीके से नहीं करते इसलिए हम सामान्य मानव मंजिल प्राप्ति से चूक जाते है. फिर अपने आस पास की चीजों को दोष देने लग जाते है.  अतः स्वामी विवेकानद जी का ये कथन सही है. हमे खुद के विकास में सही रस्ते पर और ज्यादा से ज्यादा मेहनत करने की जरुरत है. कुदरत ने हमे असीम क्षमतायें दी है हमे इन क्षमताओं को पहचान कर अपनी आखो से पट्टी खोलने की जरुरत है.

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

  • जैसा तुम सोचते हो वैसे ही बन जाओगे, खुद को निर्बल मानोगे तो निर्बल और सबल मानोगे तो सबल ही बन जाओगे. 

अर्थात- हमारे विचार और सोचने के तरीके से ही हमारा भविष्य तय होता है. स्वामी विवेकानंद जी कहना चाहते है कि अगर हम खुद को बेहतर मानते है तो हम बेहतर काम करने का प्रयास करेंगे और हम बेहतर ही होते चले जायेंगे. जो इंसान ऊँचा सोच नहीं  सकता वो सही मायने में ऊँचा नहीं बन सकता.

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

  • चिंतन करो, चिंता नहीं, नए विचारों को जन्म दो. 

अर्थात- किसी भी समस्या के सम्बन्ध में चिंता से बचना और चिंतन करना ही समस्या के समाधान कि तरफ जाना है. चिंता करने से मानव कमजोर होता चला जाता है.  शारीरिक, मानसिक और चारित्रिक ताकत कम होने लगती है. जबकि चिंतन व्यक्ति को नए रास्तों पर ले जाता है. चिंतन के सहारे कई बार इंसान किसी समस्या का सबसे  अलग, नया एवं ज्यादा बेहतर समाधान निकाल सकता है.  अतः स्वामी विवेकानंद जी का कथन कि चिंतन से ही नए विचारों का जनम होता है पूर्णतः सत्य है.

swami vivekananda quotes in hindi

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

  • उठो जागो और जब तक लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाये तब तक मत रुको.

अर्थात-  किसी नैतिक लक्ष्य को तय करने के बाद, उस रस्ते पर डटे रहना बहुत जरुरी है. स्वामी विवेकानंद जी ने अनेक जगह कहा है कि  अगर आपका लक्ष्य एवं  विचार नेक है तो पूरी कायनात आपको आपकी मंजिल तक पहुंचने में मदद करती है. डटे रहने के लिए  जरुरी है कि हमे खुद पर और अपने कर्मो कि ताकत पर भरोसा हो. विश्वास रखें कि लक्ष्य प्राप्ति होगी. कर्म करते रहे चाहे जो भी रुकावट आये, कर्म से विरत न हों तो एक दिन वह शुभ दिन आएगा जब हम अपनी मंजिल पर होंगे.

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

  • उस व्यक्ति ने अमरत्व प्राप्त कर लिया है, जो किसी सांसारिक वस्तु से व्याकुल नहीं होता. 

अर्थात- समान्य तौर पर हम सांसारिकता से दूर रहने का मतलब सांसारिक चीजों से दूरी बना लेना समझते है.  भौतिक वस्तुओं से दूरी बना के रखने से या भौतिकता से खुद को दूर रखने से इंसान व्याकुल होने से नहीं बच सकता. हमें ये समझना होगा कि ये वस्तुए या सांसारिकता एक साधन है.  साधन से तात्पर्य जीवन की असल मंजिल तक पहुंचने के लिए मदद करने वाली वस्तु या सम्बन्ध से है. मंजिल का मतलब जीवन को सच्ची ख़ुशी से जीना हो सकता है. नैतिक और चारित्रिक उत्थान ही आत्मिक उत्थान की तरफ ले जाता है. आत्मिक उत्थान के बाद इंसान जीवन की असल मंजिल के बारे में जान पाता है. यधपि यह एक कठिन रास्ता है लेकिन जीवन वास्तविक मंजिल पर पहुंचने या उस रस्ते पर होने पर भी मानव सांसारिक वस्तुओं और संबंधों के प्रति सकारात्मक उदासीन हो जाता है, और यह पूरी तरह प्राक्रतिक भी है.

swami Vivekananda quotes in hindi

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

  • एक अच्छे चरित्र का निर्माण हजारों ठोकरें खाने के बाद ही होता है.

अर्थात- अच्छे चरित्र निर्माण के लिए, नैतिक और संघर्षमय जीवन जीना बहुत जरुरी है. यधपि सामान्य जीवन में भी  आगे बढ़ने का कोई शॉर्टकट नहीं होता.  मगर चारित्रिक जीवन जीना, उसमे भी महान चारित्रिक जीवन का निर्माण बिना संघर्ष के संभव नहीं है. नैतिक और संघर्ष-पूर्ण जीवन में अनेकों परेशानिया आती है. अनेकों ठोकरों और इम्तेहानों का सामना करना पड़ता है. नैतिक जीवन को आगे ले जाते हुवे आपके धैर्य और चरित्र की अनेको बार परीछा होती है.  हालाँकि फिर वही नियम कि अगर आपका लक्ष्य एवं  विचार नेक है तो पूरी कायनात आपको आपकी मंजिल तक पहुंचने में मदद करती है यहाँ भी लागू होता है. अतः डटे रहें और विश्वास रखें.

(Swami Vivekananda Quotes In Hindi)

  • ज्ञान का प्रकाश सभी अंधेरों को खत्म कर देता है. 

अर्थात- ज्ञान का उजाला ही जीवन को हमेसा दीप्तिमान रख सकता है. सामान्य तौर पर देखे तो, हमारे जीवन में काम आने वाली चीजों कि जानकारी हमें मजबूत करती है. बेहतर और स्वाबलंबी जीवन जीने के लिए दुनियावी ज्ञान और समझ बहुत जरुरी है. मगर यहाँ ज्ञान का तात्पर्य सही मायनो में जीवन को समझ लेने से है. नैतिक चरित्र और कठिन परिश्रम से जो ज्ञान प्राप्त होता है वही ज्ञान वास्तविक ज्ञान होता है. और यही वास्तविक ज्ञान है जो कि सभी आधेरों को ख़त्म कर सकता है.

स्वामी विवेकानंद जी का जीवन चरित अपने आप में एक जीवन दर्शन है.

“Biography Of Swami Vivekananda Is Itself A Way of Life.”

SWAMI VIVEKANANDA QUOTES IN HINDI