मेरी माँ का माँ होना | माँ पर हिंदी कविता | Poem on mother in hindi

Spread the love

Hindi Poem On Mother | Ma par kavita

मेरी माँ का माँ होना

ma pa kavita

दूर जगल में कोई ठंडी रात का होना है.. माँ तेरा माँ होना.
हर पल दर्द का खिलौना है माँ तेरा माँ होना…..

सहन कर जाना सब बुरा-भला ज़माने भर का मेरी वजह से
खड़ी पहाड़ी में खच्चर का ढोना है माँ तेरा माँ होना ……

2 भैसें 4 गाय-बैल बन को खोल कर.. लकड़ी काटने जाना
दूर दुकान से घर तक सिर पे राशन का ढोना है माँ तेरा माँ होना….

मेरे वजूद में जो आज आबाद है.. उसकी जड़ो में है तू
मंदिर-मंदिर देवताओ के दर रोना है माँ तेरा माँ होना….

बाज्यू के हल के पीछे.. “सूखे कठोर ढेले फोड़ने का ठेका लेकर”
बिन बारिस भी उम्मीद की फसल का बोना है माँ तेरा माँ होना…..

“रात भर बिना नींद उधेड़-बुन फिर सुबह भैस के कन्न से दिन का आगाज”
दुहना भैस को …हमें पिला देना ..खुद चाय पीकर खुश होना है माँ तेरा माँ होना….

चीड़ की लकड़ी के धुवे से आखें सुखाकर सबका पेट भरने की जिम्मेदारी
“और फिर बचा-खुचा साग-रोटी खाकर सोना है माँ तेरा माँ होना”

poem on mother in hindi


poem on mother in hindi

हिन्दीवाल के लिए ये कविता “मेरी माँ का माँ होना” के लेखक का नाम रोहित गड़कोटी है. अल्मोड़ा (उत्तराखंड) में रहते है. हिन्दीवाल ब्लॉग में संपादन का कार्य भी करते है.

 

 


हिन्दीवाल के अन्य बेहतरीन लेख

प्रेरणादायक अनमोल वचन और सुविचार | INSPIRATIONAL THOUGHTS IN HINDI (SUVICHAR)
जल संरक्षण पर नारे | Slogans and Quotes on Save Water in Hidni
स्वामी विवेकानंद के महत्वपूर्ण विचार (Swami Vivekananda Quotes In Hindi)
Sachi khusi kese mile | सच्ची खुसी कैसे मिलती है | How to get real Happiness

 

 

1 thought on “मेरी माँ का माँ होना | माँ पर हिंदी कविता | Poem on mother in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *